बहुत कुछ किया जा सकता था

Aditi Gupta
Jan 29, 2023

मेरी गलती पर तेरा गुस्सा जायज था,
लेकिन गलतियों को माफ़ करके साथ भी तो रहा जा सकता था |
तूने लाख वादे किये, फिर सब कुछ भूल जाने को कहा,
कभी मुझे पीछे मुड़ के भी तो देखा जा सकता था |

तू लड़ झगड़ के भी साथ रहने वालों में से था,
लेकिन अलग होने के बाद मेरे जज्बातों को भी तो कभी पूछा जा सकता था |
माना की हमारी मंजिलें अलग थी,
लेकिन साथ रहके भी तो सब कुछ हासिल किया जा सकता था |

एक साल बाद मिलने का वादा किया था, लेकिन फिर अलग हो गए,
कभी तो पीछे आके एक नए सड़क पर चला जा सकता था |
कभी मेरी तो कभी तेरी कोई मज़बूरी,
लेकिन कभी तो बीते पलों को वापस जिया जा सकता था |

--

--